Categories: Poetry

मैं आजीवन निसर्ग के सानिध्य मैं रहूँगा.. Hindi Poem by Akhilesh Sorari

तितलियों से पूछूंगा इस रंगीन नज़ाकत का राज..
जुगनू से उसकी चकाचौंध का..
फूलों से महक के मायने पूछूंगा..
फसलों से लहराते यौवन की मदहोशी,
सूरज से तमतमाती गर्मजोशी!
पानी से जीवन की तरलता का संबंध,
कोयल से पूछूंगा नैसर्गिक छंद।
अंबर से असीमित गहराई पूछूंगा,
धरती से बासंती रुप-रंग।।
पेड़ों की हरियाली पैरहन का सौन्दर्य,
मैं भी ओढूंगा और बिछाऊंगा,
पेड़ लगाऊंगा,फूल लगाऊंगा,
प्रकृति को हरा-भरा सुंदर साॅल ओढ़ाऊंगा।
नदियों को प्राणों की सरसता का धन्यवाद कहूंगा,
मैं आजीवन निसर्ग के सानिध्य मैं रहूँगा।
पर्यावरण को स्वच्छ और समृद्ध बनाऊंगा।। – ‘अखिलेश  सोराड़ी’

‘पर्यावरण की  स्वच्छता और सुंदरता हमारे व्यक्तित्व की गुणवत्ता का परिचायक है। अतः इसकी समृद्धि में हम अपना हर संभव योगदान अवश्य दें।
विश्व पर्यावरण दिवस की सभी को हार्दिक शुभकामनाएं’।

– ‘अखिलेश  सोराड़ी’

This post was last modified on June 16, 2020 12:48 pm

Akhilesh Sorari

उर्ष-ए-वीराँ में तरन्नुम सी कोई। बज रही सरगम मेरी धडकन में कोई।

Recent Posts

Site De Rencontre Gratuit En Algerie

Si vous êtes intéressé par une sortie d’un soir de temps en temps, consultez les annonces sexe d’Amissexy, découvrez les…

1 month ago

उत्तराखंडी फिल्म “माटी पहचान” – Uttarakhandi Movie “Maati Pehchaan”

Uttarakhandi Movie "Maati Pehchaan" उत्तराखंडी फ़ीचर फिल्म "माटी पहचान" का दूसरा आधिकारिक टीज़र 3 मार्च 2020 को फार्च्यून टॉकीज़ मोशन…

4 months ago

Dehradun Mussoorie Ropeway Project: Doon to Mussoorie in 16 Minutes

Dehradun-Mussoorie ropeway project, the much-awaited project is introduced by Chief minister Trivendra Singh Rawat on March 06, 2019. The length…

4 months ago

Best Places to Visit in Uttarakhand

Char Dham Yatra

Similar Places