BLOG CATEGORIES

RECENT ARTICLES

अलि-अवली मधुरस पी जायेगी सारा
अलि-अवली मधुरस पी जायेगी सारा अलि-अवली मधुरस पी जायेगी सारा, मधु-मुकुल! तुम्हें छिपकर रहना होगा। हे! कुसुम कली,तुम जिस मधुकर के लिये बनी, इन्तज़ार में…
देवभूमि की आह – पलायन
देवभूमि की आह – पलायन हरे भरे पेड़ो से आच्छादित जंगल, इसके बीचोंबीच से लहलहाती जाती हुई नदियाँ जो अमृत जल से लबालब हैं, और…
error: