Poetry

कभी जब वक़्त मिले

कभी जब वक़्त मिले…ठोस शहर की गुमनाम दीवारे छोड़कल कल बहती नदिओं की तरफ जानागली कूंचें बहकी हुई सड़के छोड़छोटी…

2 weeks ago

चाँद सजी रात का

पृष्ठ इक पलट गया, जिन्दगी किताब का।धार कलम सुर्ख स्याह रंग की दवात का।सूर्य छिपा लाल चुनर ओढ़ क्षितिज सांझ…

2 weeks ago

हे पथिक तू चलता जा

हे पथिक तू चलता जा, ये राह तुझे ले जाये जहाँ,न मदिरालय की खोज में, न मनमौजो की मौज में,बस…

2 weeks ago

नदी का एक छोर

नदी का एक छोर सुहाना,याद दिलाता है एक अफसाना,धुमिल होती कुछ यादें पुरानी और वो तुम्हारा शर्माना,हाँथ पकड़ना और मंद-मंद…

2 weeks ago

रुकी-रुकी सी साँसें..

रुकी-रुकी सी साँसें आ रही हैं इस कदर..मरा-मरा सा कोई जी रहा हो जैंसे। अनवरत अश़्क यूं आँख से बह…

2 weeks ago

तुम रूठकर मुश्किल मेरी आसान करती हो

सहजता से भूल पाना हो रहा मुमकिन तुम्हें,तुम रूठकर मुश्किल मेरी आसान करती हो।मगर तुम प्रेम की लावर्ण्यताओं के लिये…

2 weeks ago

मन-मोहक मुस्कान तुम्हारी

कौंल पद्म सी,कुंद कुसुम सीश्वेत शुभ्र शोभित सुकुमारी।  मन-मोहक मुस्कान तुम्हारी।                 मधुमय…

2 weeks ago

आजकल श़हजाद का रुख़ किस तरफ है

आजकल श़हजाद का रुख़ किस तरफ है।भीगना है,प्यार की बरसात का रुख़ किस तरफ है।मैं ढूँढ़ता सारे जहाँ में खुशबुऐं…

2 weeks ago

ये शादाब चेहरा ये शफ्फाक आँखे

ये शादाब चेहरा ये शफ्फाक आँखे।ये जुल्फें घनेरी ये मुस्कान तेरी।कहीं दिल में हलचल सी तो हो रही है।कहीं भावनायें…

2 weeks ago

अलि-अवली मधुरस पी जायेगी सारा

अलि-अवली मधुरस पी जायेगी सारा,मधु-मुकुल! तुम्हें छिपकर रहना होगा।हे! कुसुम कली,तुम जिस मधुकर के लिये बनी,इन्तज़ार में उस मधुकर के…

2 weeks ago